Open Source Software Kya Hai

8

आज हम एक ऐसे विषय के बारे में बात करेंगे जिसके बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते हैं कंप्यूटर और मोबाइल में हम जो भी कार्य करते हैं वह सभी हम अलग-अलग विशेष सॉफ्टवेयर की मदद से कर पाते हैं यह सॉफ्टवेयर प्रोग्राम द्वारा लिखे और विकसित किए जाते हैं |

Open Source Software Kya Hai

अगर आप कंप्यूटर स्टूडेंट है या फिर आपने किसी कंप्यूटर का कोर्स किया है तो आपने Open Source Software का नाम जरूर सुना होगा लेकिन अगर आप कंप्यूटर की दुनिया से जुड़े इस महत्वपूर्ण टर्म के बारे में नहीं जानते हैं तो फिर आपकी इस परेशानी का हल इस आर्टिकल में जरूर मिलेगा |

आज के इस आर्टिकल में हम Open Source Software से जुड़ी सारी जानकारियां आपके साथ शेयर करने वाले हैं और आज के इस आर्टिकल में Open Source Software Kya Hai आप जानेंगे Open Source Software के बारे में और इसके फायदे के बारे में |

Open Source Software Kya Hai

जब एक Developer अपनी तकनीकी ज्ञान से एक Software बनाता है तो उस Software को बढ़ाने के लिए लिखे गए सोर्स कोड को एक लाइसेंस के साथ सार्वजनिक तौर पर |

सभी मनुष्य को उस Software के सोर्स को पढ़ने उसमें सुधार करने और अपनी इच्छा के अनुसार बदलाव करने का अधिकार देता है उस Software  को Open Source Software कहते हैं |

अर्थात Open Source Software ऐसा सॉफ्टवेयर है जो सोर्स कोड के साथ बनाए जाता है जिसे यूजर द्वारा पड़ा यह संशोधित किया जा सकता है और इसका सोर्स कोड इंटरनेट पर Free में उपलब्ध होता है |

Open Source Software की श्रेणी में वैसे सॉफ्टवेयर आते हैं जिनका सोर्स कोड उस सॉफ्टवेयर के साथ सबके लिए उपलब्ध होता है |

सामान्य रूप से Open Source Software के लिए Developer पर का समूह जिसे Developer कम्युनिटी भी कहा जाता है

यहां सब मिलकर कार्य करते हैं नेशनल रिसोर्स सेंटर फॉर फ्री एण्‍ड ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर ( NRCFOSS ) एक सरकारी संगठन है |

जो भारत में Open Source Software की वृद्धि करने के लिए बनाया गया है अगर आप कंप्यूटर या स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तब आप अपने डिवाइस इसमें कोई सॉफ्टवेयर या ऐप डाउनलोड करने के लिए इंटरनेट पर जब सर्च करते हैं |

तो आपने बहुत सारे ऐसे सॉफ्टवेयर को देखा होगा जो मुफ्त में उपलब्ध होते हैं ये सारे सॉफ्टवेयर Open Source Software के द्वारा ही बनाए गए होते हैं |

अब आप सोच रहे होंगे कि Open Source Software में कैसे कोई व्यक्ति बदलाव कर सकता है |

जबकि उस सॉफ्टवेयर को बनाने वाला कोई और ही होता है तो चलिए मैं इसके बारे में आपको थोड़ा विस्तार से बताता हूं कोई भी सॉफ्टवेयर बनाने के लिए कोडिंग की जरूरत होती है |

और कोडिंग दो तरह की होती है एक होता है सोर्स कोड और दूसरा होता है ऑबजेक्‍ट कोड |

जब तक किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे C, C++ or Java जैसे लैंग्वेज में प्रोग्राम लिखते हैं तो प्रोग्राम 5 या 10 लाइन का नहीं होता बल्कि बहुत सारी लाइन का होता है |

और उस समूह को हम कंप्यूटर की भाषा में प्रोग्राम इंस्ट्रक्शंस कहते हैं जो एक कोड की तरह होता है

Open Source Software Kya Hai

इस कोड को हम सोर्स कोड कहते हैं हम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर डिवाइसेज में रन करने के लिए बनाते हैं लेकिन इस सोर्स कोड को कंप्यूटर नहीं समझ पाता |

क्‍योकि सोर्स कोड हुमन रिडेबल फॉर्म में होता है जिसे केवल हम और आप ही समझ सकते हैं कंप्यूटर द्वारा लिखे गए सोर्स कोड को समझ सके इसके लिए कंप्यूटर की सहायता ली जाती है |

जो सोर्स कोड को ऑब्जेक्ट कोर्ट में परिवर्तित करता है कंप्यूटर सिर्फ 0 या 1 बाईट को समझता है उसे ही ऑब्जेक्ट कोड या मशीन कोड कहा जाता है |

यह ऑब्‍जेक्‍ट कोड 0 और 1 बाईट का सिक्‍वेंस होता है जैसे 01011 01050 जो हम मनुष्‍य समझ नहीं सकते लेकिन कंप्‍यूटर इन्‍हे समझ पाता है उसके बाद सॉफ्टवेयर कोड करता है तब जाकर सॉफ्टवेयर बनकर तैयार होता है |

इसलिए जब हमें किसी सॉफ्टवेयर का सोर्स कोड उपलब्ध होता है तो हम उस में अपनी जरूरत के अनुसार सोर्स कोड में परिवर्तन कर उसमें नई नई वीडियोस जोड़ सकते हैं |

या उसमें सुधार करके सॉफ्टवेयर को बेहतर बना सकते हैं सोर्स कोड का उपयोग करके एक नया सॉफ्टवेयर Develop कर सकते हैं और उसे फ्रि या कुछ शुल्‍क में बेच भी सकते है |

इन सभी कामों पर किसी की कोई भी पाबंदी नहीं रहती है ऐसा नहीं है कि Internet पर आपको जितने भी Apps या सॉफ्टवेयर मिलते हैं वह सभी फ्रि में उपलब्ध होते हैं कुछ ऐसे भी सॉफ्टवेयर है जिनका आपको इस्तेमाल करने के लिए किमत देनी पड़ती |

जो सॉफ्टवेयर हम पैसे देकर इस्‍तमाल करते हैं वो एक क्‍लोजड सोर्स सॉफ्टवेयर होता है जिसे प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर भी कहते हैं |

इस सॉफ्टवेयर का सोर्स कोड आपको सॉफ्टवेयर के साथ नहीं मिलता है इसलिए इसमें कोई भी व्यक्ति अपने अनुसार बदलाव नहीं कर सकता प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर सोर्स बहुत सुरक्षित रखा जाता है |

इसको केवल वो कंपनी ही मॉडिफाई या Develop कर सकती है जिसने इस सॉफ्टवेयर को बनाया है |

Closed सोर्स सॉफ्टवेयर का सिंपलसा उदहारण है विंडोज और IOS ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर जो Closed सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है

Open Source or Closed Source Software में क्या अंतर होता है

Open Source Software Closed Source Software से बेहतर होता है क्योंकि हम Open Source Software में सोर्स कोड को अपने मुताबिक मॉडिफाई करके अपने प्रयोग करने के लिए आसान बना सकते हैं जब Open Source Software में ऐसा करना संभव नहीं है |

इसलिए ज्यादातर Developer Open Source Software का इस्तेमाल अपने द्वारा लिखे गए प्रोग्राम की टेस्टिंग करने के लिए करते हैं और नए नए सॉफ्टवेयर Develop करने का अभ्यास करते हैं |

Open Source Software में ऑपरेटिंग सिस्टम Linux, Symbian, सर्वर मे Apache, डोमकिट वेब सर्वर में Joomla, Programing लैगवेज में PHP, Python वेब ब्राउजर में मोज़िला फायरफॉक्स, गूगल क्रोम आदि कई प्रसिद्ध उदाहरण है |

Open Source Software का सबसे बड़ा और लो‍कप्रिय उदाहरण है Android.

जिसे आज लाखों-करोड़ों लोग इस्तेमाल करते हैं एंड्रॉयड गूगल द्वारा बनाया गया Open Source  ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर है |

इसका उपयोग कोई भी कर सकता है और उसमें अपने अनुसार बदलाव कर नए नए फीचर्स ऐड करके दुसरे लोगों के साथ डिस्‍ट्रीबीयुट भी कर सकता है |

Open Source Software Kya Hai

अगर आप Developer बनना चाहते हैं और आपको Open Source Software की जरूरत है जहां से आप सॉफ्टवेयर बनाने का कार्य कर सकते हैं तो उसके लिए कुछ वेबसाइट भी मौजूद है जिनका नाम है |

www.sourceforge.com

www.opensource.org

Open Source Software के क्या-क्या फायदे होते हैं

1 Free of Cost – Open Source Software के तहत जितने भी सॉफ्टवेयर Develop किए जाते हैं उसे निशुल्क उपलब्ध करवाया जाता है इस सॉफ्टवेयर के सोर्स कोड भी पूरी तरह से मुफ्त में प्रदान किए जाते हैं |

जिसे कोई भी मॉडिफाई कर सकता है एक अनुमान से यह पता चला है कि Open Source Software के मुफ्त में उपलब्ध होने की वजह से प्रतिवर्ष लोगों के लगभग 60 बिलियन डॉलर पैसे की बचत होती है |

2 High Quality – Open Source Software  की क्वालिटी कमर्शियल सॉफ्टवेयर से भी ज्यादा बेहतर होती है क्योंकि इन्हें दुनिया के अलग-अलग Developer अपनी जरूरतों के हिसाब से सामूहिक प्रयास से विकसित करते हैं |

इसलिए इस सॉफ्टवेयर में हर प्रकार से युजर की जरूरत का ख्याल रखा जाता है साथ ही इसमें छोटी मोटी कमियां समय रहते ही ठीक कर दी जाती है यही कारण है कि सॉफ्टवेयर की क्वालिटी बहुत अच्छी होती है |

3 Security – Open Source Software बेहतर क्वालिटी के साथ-साथ अधिक सुरक्षित होते हैं ये समय-समय पर अपडेट भी किए जाते हैं जहां पर इसके बग्‍स और ऐरर को भी ठीक किया जाता है |

जिससे यह सॉफ्टवेयर पूरी तरह से सुरक्षित हो जाता है क्योंकि इसमें दुनिया भर के Developer के द्वारा योगदान दिया जाता है इसलिए यह बहुत ही शक्तिशाली भी होते हैं |

4 Training – बहुत से लोग Open Source Software को इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि इसका इस्तेमाल करके वह बेहतर प्रोग्राम बना सकते हैं यह सॉफ्टवेयर ओपन होता है जिसमें कोई भी नौसिखिया इसका सोर्स कोड देखकर आसानी से प्रोग्रामिंग करना सिख जाता है |

इसमें कंप्यूटर पढ़ने वाले बच्चे भी कर अपना प्रोग्रामिंग और डेवलेपिंग Skills को बढा भी सकते हैं |

Open Source Software का सोर्स कोड देखने या एडिट करने के लिए आपको Development प्लेटफार्म से सोर्स कोड फ्री में मिल जाएंगे |

Development प्लेटफार्म से Github.com एक सबसे मशहूर नाम है जहां पर आपको कई सारे पॉपुलर Open Source Software के सोर्स कोड मिल जाएंगे |

5 Control – Open Source Software के साथ सोर्स कोड भी उपलब्ध करवाए जाते हैं इसलिए यूजर अपनी जरूरत के अनुसार इस सॉफ्टवेयर में कोड को खुद जांच करके उसमें आवश्यक बदलाव भी कर सकते हैं यूजर को सोर्स कोड में मॉडिफाई करने के लिए पूरा कंट्रोल दिया जाता है |

Open Source Software सोर्स कोड की मुक्त उपलब्धता के कारण हर कोई open-source के आगे के विकास में योगदान दे सकता है यह एक निरंतर विकास चक्र प्रदान करता है जो सॉफ्टवेयर को कम समय में तेजी से बनाता है और सुधारना है |

आशा है कि दोस्तों आपको दिया गया आर्टिकल Open Source Software Kya Hai के ऊपर संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है कि दिए गए विषय के ऊपर पूरी जानकारी मिले जिससे कि आपको और कहीं जाने की जरूरत ना पड़े |

अगर आपको यह आर्टिकल Open Source Software Kya Hai अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए ताकि यह महत्वपूर्ण जानकारी उनको भी मिल सके अगर आपको इस आर्टिकल संबंधित कोई सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!