Virtual Memory Kya Hai

16

आपने टेक्निकल टर्म में मेमोरी के बारे में तो काफी कुछ सुना होगा अच्छी होनी चाहिए तभी आपका सिस्‍टम या फिर कोई भी डिवाईज बेहतर काम करती है |

Virtual Memory Kya Hai

इसी तरीके से आज हम बात करेंगे Virtual Memory के बारे में जिसका जिक्र आस पास होता ही रहता है और आप भी इससे वाकिप होगे लेकिन इसकी पुरी जानकारी आज हम लेकर आए है इस आटिकल में |

कंप्यूटर तो आजकल सभी इस्तेमाल करते हैं और कंप्यूटर में जो मेमोरी होती है रैम और रोम |

तो इन दो मेमोरी के अलावा भी एक और मेमोरी है जिसकी जरूरत कंप्यूटर में उतनी ही है जितनी की रैम और रोम की इस मेमोरी का नाम है Virtual Memory.

आज हम वर्चुअल मेमोरी के ऊपर आपको डिटेल में पूरी इंफॉर्मेशन देने वाले हैं चलिए दोस्तों जानते हैं Virtual Memory Kya Hai.

Virtual Memory Kya Hai

कंप्यूटर में मल्टी प्रोसेसिंग के काम को करने के लिए रैम का होना बहुत जरूरी है मल्टी प्रोसेसिंग का मतलब है बहुत सारे प्रोग्राम या एप्लीकेशन को एक साथ ओपन करना जिसे एक ही समय में वेब ब्राउजर्स माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, ऐक्‍सएल, फोटोशॉप आदि प्रोग्राम का इस्तेमाल इसमें शामिल है |

किसी भी कंप्यूटर में विभिन्न एप्लीकेशन प्रोग्राम्स को रन करने के लिए कंप्यूटर में रैम ही उस कार्य को करती है हम जितनी बार अलग-अलग एप्लीकेशन अपने सिस्टम में खोलेंगे उतनी बार रैम का स्पेस इन एप्लीकेशन को रन करने के लिए भरता जाता है |

और कभी कबार ऐसी सिचुएशन आ जाती है कि रैम का जो स्पेस रहता है वह पूरी तरह से इन एप्लीकेशन को रन करने से भर जाता है उसके बाद कोई भी एप्लीकेशन या सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में रन नहीं हो पाता है |

ऐसी सिचुएशन में कंप्यूटर Virtual Memory का इस्तेमाल करता है वर्चुअल मेमोरी कंप्यूटर के हार्ड डिस्क का स्‍पेस लेकर कंप्यूटर में रैम के अल्टरनेटीव टास्‍क के लिए उपयोग किया जाता है |

यानी Virtual Memory कंप्यूटर को एक अलग रैम उपलब्ध करवाती है जो फिजिकल रैम से बिल्कुल अलग होती है |

Virtual Memory Kya Hai

अलग इसलिए होती है क्योंकि फिजिकल रैम कंप्यूटर सिस्टम में चिप के रूप में होती है जो कि हार्डवेयर है और वर्चुअल मेमोरी एक सॉफ्टवेयर है |

तो वर्चुअल मेमोरी का काम यही है कि अगर सिस्टम में रैम का स्‍पेस कम है तो कंप्यूटर में Virtual Memory का प्रयोग करके उस कमी को पूरा किया जा सकता है हर कंप्यूटर सिस्टम में रैम का साईज लिमिटेड होता है |

जब हम कंप्यूटर सिस्टम में एक से ज्‍यादा एप्लीकेशन या फाईल को खोलते हैं तो रैम का स्‍पेस भर जाता है इसी वजह से सिस्टम का स्‍पीड धीमा हो जाता है |

उस वक्त Virtual Memory रैम के डाटा को हार्ड डिस्क के स्‍पेस में भेज देता है जिससे रैम खाली होने लगता है और फिर कंप्यूटर के टास्‍क को को बेहतर तरीके से प्रफॉम कर पाता है |

Virtual Memory काम कैसे करता है

जब भी कंप्यूटर में रैम का स्‍पेस फुल होने लगता है तो कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम उन एप्लीकेशन और फाईल इसकी जांच करता है |

जो हम अपने सिस्‍टम में ओपन रखते हैं और जो भी फाइल एप्लीकेशन सिस्टम में मिनिमाइज होकर रहती है यानी उस समय युजर उन पर काम नहीं कर रहा है लेकिन वो निचे खुली रहती है |

तो कंप्‍यूटर उन सभी को Virtual Memory में पेजिंग फाईल में सहायता से रैम के डाटा को ट्रांसफर कर देती है |

जब डाटा को फिजिकल मेमोरी थे Virtual Memory में ट्रांसफर किया जाता है तब वह ओएस उस एप्लीकेशंस के प्रोग्राम को पैज फाईल में डिवाइड कर देती है और साथ ही  में हार पैज फाईल के साथ एक फि‍क्‍स नंबर का एड्रेस भी जोड़ देती है |

Virtual Memory Kya Hai

तो डाटा ट्रांसफर करने के लिए कंप्यूटर रैम के उन एरिया की तरफ देखता है जो हाल ही में प्रयोग नहीं किए गए हैं और उन्हें हार्ड डिस्क की वर्चुअल मेमोरी में कॉपी कर देता है |

हर पेज फाईल हार्ड डिस्क में जाकर की इक्‍कठा हो जाते हैं इससे हमारी रैम का  खाली होने लगता है और जिस एप्लीकेशन पर यूजर प्रेजेंट में यानी कि वर्तमान में काम कर रहा होता है वह बहुत ही अच्छी तरीके से कम कर पाता है |

उसके साथ नहीं एप्लीकेशन भी आराम से लोड हो पाती है तो जब हम को ओपन करते हैं जिन्‍हे हम हमने मिनीमाईज कर के रखा हुआ है उस वक्‍त हार्ड डिस्‍क की Virtual Memory में जो फाईल ट्रांसफर गई थी |

उस फाईल के एड्रेस को ओएस वापस से हार्ड डिस्‍क से कॉपी रैम में भेज देता है जिससे हम उस प्रोग्राम या एप्लीकेशन पर आसानी से काम कर पाते हैं ओएस तब तक फाईल को हार्ड डिस्क में लोड नहीं करती है |

जब तक उनकी जरूरत नहीं पड़ जाती इस प्रोसेस से कंप्यूटर में रैम की साइज को बढ़ाया जाता है जिससे कंप्यूटर पर एक से ज्यादा प्रोग्राम्स को चलाते टाइम कम साईज की रैम से छुटकारा पाया जा सकता है |

Virtual Memory कंप्यूटर की फिजिकल मेमोरी नहीं हैं बल्कि एक ऐसी तकनीक है जो इस बड़ी प्रोग्राम को एग्जीक्यूट करने की परमिशन दे दी है जो पूरी तरह से प्राइमरी मेमोरी यानी कि रैम में नहीं रखी जा सकती है |

Virtual Memory ऑपरेटिंग सिस्टम का ही भाग है जो कि रैम के कार्य को पूरा करने में हेल्प करता है तथा वह सारी एप्लीकेशन जरिया पहले ऐक्‍सेस नहीं कर पा रहे थे उन्‍हे इस मेमोरी के जरिए अब आसानी से कर पाएंगे |

Virtual Memory के फायदे क्या है

Virtual Memory उस टाइम बनाया गया था जब वह बहुत ही महंगे हुआ करती थी और कंप्यूटर से सीमित मात्रा में रैम होने की वजह से कंप्यूटर की मेमोरी फुल हो जाती थी खास करके जब हम मल्टीपल प्रोग्राम को एक ही टाइम में रन करते थे |

Virtual Memory से हम अपने कंप्यूटर के रैम को लगभग दोगुना कर सकते हैं जिससे कंप्यूटर की स्पीड पहले से ज्यादा बढ़ जाती है और इसका सबसे ज्यादा फायदा यह है कि प्रोग्रामर एप्लीकेशन बनाने के लिए बड़े-बड़े प्रोग्राम लिख सकते हैं |

Virtual Memory Kya Hai

क्योंकि फिजिकल मेमारी की तुलना में Virtual Memory बहुत बड़ी होती है तो अब आप अपने कंप्यूटर पर ज्यादा बड़े साइज वाले प्रोग्राम को भी आसानी से रन कर पाएंगे |

इस रिजन की वजह से Virtual Memory उन लोगों के लिए सबसे अच्छी होती है जो अपने कंप्यूटर सिस्टम को अपग्रेड नहीं करना चाहते |

यानी कि नहीं और बड़े साइज वाले रैम खरीदना नहीं चाहते हैं लेकिन कंप्यूटर पर फास्ट काम करना चाहते हैं वैसे बात काफी अच्छी है इसका दूसरा फायदा यह भी है कि सिस्टम में एक टाइम पर एक से ज्यादा एप्लीकेशन खोल करके बिना रुकावट के इस्तेमाल किया जा सकता है |

लेकिन Virtual Memory की एक खामी भी है हार्ड डिस्क में प्रोग्राम के अधिक तेज फाईल रखने से उन फाइल्स को प्राप्त करने का प्रोसेस जो है ना वह धीमा हो जाता है |

क्योंकि मेमोरी रैम से डाटा एक्सेस करने के कंपैरिजन में हार्ड डिस्क से डाटा एक्सेस करने में अधिक समय लगता है इसलिए मल्‍टीपल ऐप्‍लीकेशन को रन करने में थोड़ा टाइम लग जाता है |

Virtual Memory मुख्य रूप से यूजर्स के लिए रैम की क्षमता का विस्तार करने की टेक्निक है Virtual Memory का उपयोग सभी बड़े ऑपरेटिंग सिस्टम में किया जा सकता है |

आशा है कि दोस्तों आपको दिया गया आर्टिकल Virtual Memory Kya Hai के ऊपर संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है कि दिए गए विषय के ऊपर पूरी जानकारी मिले जिससे कि आपको और कहीं जाने की जरूरत ना पड़े |

अगर आपको यह आर्टिकल Virtual Memory Kya Hai अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए ताकि यह महत्वपूर्ण जानकारी उनको भी मिल सके अगर आपको इस आर्टिकल संबंधित कोई सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here