Advertising Producer Kya Hota Hai

22

आज के आर्ट्रिकल को शुरू करने से पहले आपसे एक सवाल है कि T.V. पर आप क्या क्या देखते हैं बल्कि आजकल तो हम कहेगे कि Internet पर भी आप क्या क्या देखते हैं |

क्योंकि Serial, Movies और और बताइए Advertisement हां इतना तो नहीं चाहती है लेकिन वह अचानक से आपके सामने आ जाते हैं |

कभी यूट्यूब पर किसी वीडियो को देखते हुए सभी Serial के बीच में और कभी अचानक Movies के शुरू होने से पहले बीच में खत्म होने के बाद बहुत सारे Ad आते है |

लेकिन अब ये कहना सही नहीं होगा कि हमें Ad और प्रमोशंस देखना पसंद नहीं आता क्योंकि लास्ट के टुडेकीट्स में Advertisement इंडस्ट्री में ऐसा बुम आया है |

यानी इंडस्ट्री की इतनी ग्रोथ हुई है इसके जरिए T.V., रेडियो और Internet पर हमें जो Ad देखने और सुनने को मिलते हैं बिल्कुल बोरिंग नहीं होते हैं बल्कि उनमें इंफॉर्मेशन बहुत ही इंटरेस्टिंग तरीके से प्रजेंट की जाती है |

Ad Producer Kya Hota Hai

बहुत से Ad में हियुमर होता है और बहुत से Ad सोशल मैसेज के लिए होते हैं और खास बात पता है क्या होती है बहुत ही कम टाइम में किसी प्रोडक्ट की पूरी डिटेल देना वह भी इतने इंप्रेसिव और इनोवेटिव तरीके से कि हमारी जबान पर उस प्रोडक्ट का नाम रह जाए |

यह एडवर्ड की क्रिएटिविटी और टैलेंट का ही नतीजा है और इसीलिए इंडिया में भी इस इंडस्ट्री में काम करने का स्कोप काफी बढ़ गया है |

एक छोटे से Ad को पूरा तैयार करने के पीछे एक बहुत ही टैलेंटेड क्रिएटिव टीम होती है जिस पर स्क्रिप्ट राइटर से लेकर के Actors और वॉइस ओवर आर्टिस्ट से जुड़े बहुत सारे लोग होते हैं |

और Advertising फिल्‍ड का एक ऐसा ही एक इंपॉर्टेंट पर्सन होता है Producer इसके बारे में लोगों को ज्‍यादा जानकारी नहीं होती है |

क्‍योकि यह कैमरे के पिछे होते है जो दिखाई नहीं देते है या फिर एकदम Movies में जैसे Producer और Director नहीं होत है ठीक वैसा ही |

इसलिए आज हम आपके लिए Advertising Producer Kya Hota Hai इससे जुडी सारी लेकर आए है ताकी अगर आप भी इस फील्‍ड में अगर Producer बनने का इरादा रखते हो यह जानकारी आपके लिए मददगार साबित हो |

Advertising Producer Kya Hota Hai

हिंदी Movies के Producer और T.V., Serial के Producer के बारे में थोड़ी जानकारी शायद आपके पास हो |

लेकिन Advertising Producer के बारे में शायद ही आप जानते हो Advertiser Producer का काम बहुत ही वाईट होता है साथ ही बहुत ही इंपॉर्टेंट भी |

इसीलिए Ad Producer में ग्रेट कम्युनिकेशन स्किल्स होनी बहुत जरूरी है सारी साथ मार्केटिंग मैनेजमेंट और डिजाइन की बहुत अच्छी समझ होनी भी कंपलसरी होती है |

Advertising Producer का जॉब बहुत हद तक उस कंपनी पर डिपेंड करता है जिससे वह जुड़ा हुआ होता है |

क्योंकि अगर Ad यूजर किसी बड़ी कंपनी से जुड़ा होता है जो Movies और T.V. सीरियल्स के लिए Ad बनाती हो तो उसका काम होता है बजट को मेंटेन रखना, कॉन्प्लेक्स को नेगोशिएट करना, Production Staff को सुपरवाइज करना और सबसे बड़ी बात अपने क्लाइंट की डिमांड और सेटिस्फेक्शन का ध्यान रखना |

उसे क्‍लाइंट क्रिऐटिव Producer और प्रोडक्शन कंपनी के बीच में बैलेंस बनाकर के चलना होता है |

Ad Producer Kya Hota Hai

इसके अलावा Advertising Producer क्वालिटी के भी रिस्पांसिबल होते हैं क्वालिटी कंट्रोल में सही इंफॉर्मेशन को वेरीफाई करने में Ad में लीगल डिस्क्लेमर यूज करने और Ad के लीगल Podcasting स्टैंडर्ड से Match होनी जैसी जरूरी चीजें वेरीफाई करने जैसी डियुटीज आती है |

और ओवरऑल देखा जाए तो Advertising Producer ना कि बजट कंट्रोल जैसी Issue को हैंडल करता है बल्कि Ad कैंपियन से जुड़े सारे इंपॉर्टेंट काम Producer से अपुर्व होकर के आगे बढ़ते हैं |

कई बार कमर्शियल Producer को स्क्रिप्ट इंटरप्रिटेशन से लेकर के Ad की पोस्ट प्रोडक्शन से जुड़े कामों को भी संभालना होता है |

Ad Shoot को डिसाइडेड बजट में पूरा करने का टास्‍क Ad Producer का होता है इसीलिए उसे प्रोडक्शन कंपनी के सारे मेंबर के साथ बैलेंस बनाना होता है ताकि सब मिलकर के टाइम पर Ad को कंप्लीट कर दें |

जिससे कि सारा काम बजट के अंदर ही पूरा हो जाए इसके लिए Advertising Producer, साउंड टेक्निशियंस, कॉपीराइटर, एक्टर्स और वॉइस ऑवर Artist को सुपरवाइज करता है |

इतना ही नहीं Ad Shoot होने के बाद T.V. पर आने से पहले उसकी एडिटिंग और साउंड मिक्सिंग जैसे पोस्ट Production Work को सुपर वाइस करना भी Ad Producer का ही काम होता है |

ताकि वह निशचीत हो जाए की क्लाइंट की डिमांड के अकॉर्डिंग Perfect प्रोडक्ट तैयार हो गया है अगर प्रोडक्शन हाउस बहुत बड़ा नहीं है तो Advertising Producer की जिम्मेदारी और भी ज्यादा बढ़ जाती है |

क्योंकि ऐसे में उसे स्क्रिप्ट फाइनल करने, सेट फाइनल करने, लोकेशन और स्पेशल इफेक्ट्स डालने जैसे टास्क में भी शामिल रहना होता है |

Commercial Camping भी Producer की Category  होती है जैसे लाइन Producer, असिस्टेंट कमर्शियल Producer.

इनमे लाईन Producer का काम यह देखना होता है कि Ad तैयार होने तक सेट पर होने वाली Daily एक्टिविटीज सही तरीके से पूरी हो जाऐ |

जबकी असिस्टेंट कमर्शियल Producer काम कॉस्ट्यूम और मेकअप issue को हैंडल करना होता है |

कोई Ad कंपनीज में Advertising Producer ऑडिशंस भी लिया करते हैं और कास्ट मेंबर को सिलेक्ट करते हैं |

इसके अलावा क्रू मेंबर्स, कॉस्टयूम डिजाइनर, कोरियोग्राफर और डायरेक्टर्स को हायर करने का काम भी इनके द्वारा किया जाता है |

अब आप सोच रहे होंगे कि Ad वर्ल्ड में Producer इतने सारे काम हैंडल करता है और आप भी ऐसा ही कुछ क्रिएटिव और इनोवेटिव करना चाहते हैं तो उसके लिए एग्जैक्ट ली क्या-क्या चीजें हैं जो आप भी होनी चाहिए आइए जानते हैं |

Advertising Producer बनने के लिए क्राइटेरिया

Advertising Producer बनने के लिए कोई फिक्स क्राइटेरिया नहीं है बस आपके क्रिएटिविटी और टैलेंट होना चाहिए |

इसके बावजूद अगर आप 12th  या Graduated  कंप्लीट करके इस फील्‍ड में उतरेंगे या मास Commination करके भी आप इस फील्‍ड में उतरते हैं तो भी अच्छा रहेगा |

इसके अलावा अब बहुत से ऐसे Courses कर सकते हैं जो कि आपकी क्रिएटिविटी को बुस्‍ट करेंगे आपको टेक्निकल नॉलेज प्रोवाइड कराएंगे और एक स्ट्रांग पोर्टफोलियो बनाने में हेल्पफुल रहेंगे |

इसके लिए आप इनमें से किसी भी सब्जेक्ट में कोर्स कर सकते हैं

Broadcast Communication, Finance Marketing, Production, Film Technology, Acting, Arts Management, Journalism, Screenwriting, Theater, Video Editing, Digital Video Editing, Audio Production with Motion Graphics.

तो आप यह तो जान ही गए हैं कि Advertising Producer बनने के लिए कोई फिक्स क्राइटेरिया नहीं है और Advertising Producer का काम केवल फाइनेंस तक ही सीमित भी नहीं होता |

Ad Producer Kya Hota Hai

बल्कि यह जॉब वरसेटइल होती है इसके लिए Producer में बहुत सारे स्किल्स जरूरी होती है ताकि वह प्रोडक्शन कंपनी के हर मेंबर के साथ सही तालमेल बिठा सके और Ad प्रोडक्शन की हर स्टेज पर काम को अच्छे से संभाल सके और टीम से पूरा करवा सके |

ऐसे में कम्युनिकेशन कोर्स से लेकर के एडिटिंग तक सभी कोर्सेज उसके लिए काफी मददगार साबित होते हैं |

इसीलिए इन्हें जो कोर्स आफ इंटरेस्ट और रिक्वायरमेंट को सूट करे आप उसके लिए अप्लाई कर सकते हैं |

Advertising Producer बनने के लिए T.V. और फिल्म इंडस्ट्री में एक्सपीरियंस होना भी जरूरी होता है या नहीं T.V. और फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले व्यक्ति के लिए Ad Producer बनना ज्यादा इजी साबित होता है |

लेकिन अगर आप T.V और फिल्मों से जुड़ा कोई Courses  भी कर लेंगे तो भी इस फील्ड के अंदर एंट्री लेना आपके लिए थोड़ा आसान जरूर हो जाएगा |

जहां तक सैलरी की बात है तो यह इस पर डिपेंड करेगा कि आप किस तरह की कंपनी से जुड़े हैं इस तरीके की प्रोडक्शन हाउस से यानी Movies, T.V., डिजिटल मीडिया या रेडियो और आप की पोजीशन क्या है |

आप लाइन लाईन Producer है या असिस्टेंट Producer है इसीलिए सभी के बारे में बताया जा सकता है कि इस क्रिएटीव फील्‍ड में भले ही आपकी सैलरी कुछ हजार रूपये यानी कि 25 से 30 हजार प्रति महिने से शुरू हो |

लेकिन आपका टैलेंट और एक्सपीरियंस आपको हाई सैलेरी पैकेज पर बहुत जल्दी पहुंचा सकता है इसलिए आप अगर इस फील्‍ड में इंटरेस्टेड है, पैसनेट है और क्रिएटिव है तो लगे रहिए क्योंकि बहुत जल्द आप की हजारों की सैलरी लाखों में कन्वर्ट हो जाएगी |

क्योंकि यह फील्ड हुनर देखता है क्रिएटिविटी देखता है और क्रिएटिविटी का एक सिंपल सा नियम है कि आंख, नाक, मुंह खोल कर रखिए |

आप के आस पास क्या हो रहा है छोटी छोटी चीजो को आबजरव कीजिए, कहानी ढूंढिए, क्या चल रहा है, क्यों हो रहा है उसके मोशन को फिल कीजिए, उसके पीछे की स्टोरी को फिल कीजिए |

और हां सबसे Important  बहुत सारी किताबें पढ़ी है जितनी किताबें पढ़ाएंगे उतनी ही कम है क्योंकि किताबें उन्हीं लोगों ने लिखी है जिनहोंने अपनी जिन्‍दगी में ऑलरेडी काफी कुछ कर लिया है |

इससे एक फायदा तो यह है कि किताबें पढ़ने से आप पुरानी Mistakes  नहीं करेंगे जिस भी रीलेटेड Courses की किताब आप पढ रहे हो उसमें कोई भी गलती की गुंजाइश कम से कम पुरानी गलती की तो नहीं होगी |

और जहां तक नई गलतियों की बात है तो वह तो आपको करनी ही करनी है क्‍योकि की नई गलतियां आपको बहुत कुछ सिखाएगी और पुरानी गलतियां नहीं करेंगे तो वह आपका टाइम बचाएगी |

इसीलिए इंपॉर्टेंट है कि क्रिएटिविटी का साथ देने के लिए आपको थोड़ी मेहनत तो करनी ही पड़ेगी |

यह भी पढे – Ios Kya Hai

How to Get Admission in Cambridge University

क्योंकि Ad Producer को बहुत सारे डिसीजन लेने होते हैं इस कमर्शियल में म्यूजिक किसका लिया जाए, लोकेशन कौनसी होनी चाहिए, क्या वाकई में यह बंदा ऐसा ऐक्‍ट कर पाएगा या नहीं तो यह सारे डिसीजन बहुत इंपॉर्टेंट होते हैं बहुत सारा पैसा लगा होता है |

आपका छोटा सा डिसीजन आपको बहुत कुछ बना सकता है या फिर कहीं और से कहीं और भी ले जा सकता है कि डिपेंड करता है टोटली आप पर कि आप इस फील्‍ड में कितना इंटरेस्ट रखते हैं और क्रिT.V.टी को किस लेवल पर ले जाते हैं |

क्योंकि हर दिन सब को चाहिए कुछ नया और बहुत ही आसान जो समझ में आ जाए और जिसके लिए ज्‍याद दिमांक ना‍ लगान पडे |

पुरी दुनियॉ इसी Concept पर काम कर रहीं है क्रिएटिविटी पर कि लोगों को कैसे आसान भाषा में आसान चीजें दि जाए जैसे कि Hinditechhouse भी करता है Innovative जानकारी आप तक पहुचाता ताकी आप आसानी से समझ सके और अपने जीवन के सही फैसले ले सके |

फिर बात चाहे क्रिएटिविटी की हो, करियर की हो या किसी भी फील्ड की कांसेप्ट एक दम सेम है |

आशा है कि दोस्तों आपको दिया गया आर्टिकल Advertising Producer Kya Hota Hai के ऊपर संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है कि दिए गए विषय के ऊपर पूरी जानकारी मिले जिससे कि आपको और कहीं जाने की जरूरत ना पड़े |

अगर आपको यह आर्टिकल Advertising Producer Kya Hota Hai अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए ताकि यह महत्वपूर्ण जानकारी उनको भी मिल सके अगर आपको इस आर्टिकल संबंधित कोई सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here