Radiation ka Matlab Kya Hota Hai

26

हमने अपनी सुविधा के लिए कई प्रकार के उपकरणों को जन्म दिया है लेकिन इसका सबसे बड़ा नेगेटिव इफ़ेक्ट हमारे वातावरण पर हुआ है जिसे हम Radiation Effect कहते हैं जिसकी वजह से बहुत सारे पक्षियों की प्रजातियां नष्ट हो गई है और हम मानव की कोशिका पर भी इसका प्रभाव बहुत बुरी तरीके से पढ़ा है इसीलिए आज हम आपके सामने एक नई जानकारी के साथ के हाजीर हुए है  जिसके बारे में जानना आपके लिए लाभदायक होगा।

Advertisement

radiation ka matlab kya hota hai

तो आज हम इस आट्रीकल Radiation ka Matlab Kya Hota Hai में रेडिएशन यानी कि विकिरण पर बात करेंगे इसमें हम जानेंगे कि विकिरण होता क्या है, यह कैसे उत्पन्न होते हैं और उसके हमारे दैनिक जीवन में क्या-क्या उपयोग है तो इस आट्रीकल को अंत तक जरूर पढीए ।

Table of Contents

Radiation ka Matlab Kya Hota Hai ?

रेडिएशन यानी विकीरण एक ऐसी ऊर्जा के स्‍त्रोत से आती है जो प्रकाश की गति से अंतरिक्ष की यात्रा करती है इस ऊर्जा में एक विद्युत क्षेत्र और उससे जुड़ा एक चुंबकीय क्षेत्र होता है और इसमें तरंग जैसे गुण होते हैं आप विकिरण को विद्युत चुंबकीय तरंगे भी कर सकते हैं।

यह कैसे ऊर्जा होती है जो तरंगों के सहारे चलती है जिन्‍हे कई नामों से जाना जाता है जैसे रेडीयो तरंगे हमारे आसपास कई प्रकार के तत्व पाए जाते हैं जिसमें से कई प्रकार की किरणो या ऊर्जा निकलती है इसी ऊर्जा या तरंग को रेडियोधर्मि तरंग या रेडीयोधर्मी उर्जा कहा जाता है।

और वायरलेस संचार के लिए उपयोग किए जाने वाले प्रकाश, ऊष्मा और माइक्रोवेव और रेडीयो तरंगे सभी विकीरण के रूप में होते है ।

विकीरण में कण और रेडीयो तरंग शामिल होती है जो विभिन्‍न समग्रीयो द्वारा उत्सर्जित होती है और ऊर्जा उत्पन्न करती है निचे जिस तरह की विकीरण की चर्चा की गई है उसे Ioniziong Radiation कहां जाता है ।

क्‍योकि ये प्रदार्थ में आवेशीत कणो या आयनो का उत्पादन कर सकता है एक्स-रे, गामा किरणें, अल्फा कण, बीटा कण और न्‍योट्रोन सभी आयनकारी विकिरण के उदाहरण है और अब बात करते हैं प्राकृतिक पृष्ठभूमि वाले विकिरण

Natural Background Radiation 

सुर्य से निकले हुए विकिरण, ब्रह्मांड विकिरण या अंतरिक्ष से उत्‍पन्‍न विकीरण का एक प्रमुख स्त्रोत है ज्यादा ऊंचाई पर एयरलाइन, उड़ाने ऐसी गतिविधियां है जो इस ब्रह्मांड विकिरण के संपर्क में वृद्धि करेगी।

कई इमारते भी आयनीकृत विकीरण का उर्त्‍सजन केवल इसलिए करती है  क्योंकि उन्हें बनाने के लिए मिट्टी की ईंट और ग्रेनाईट जैसी सामग्री का उपयोग किया गया था ये सामग्रीया मुल रूप से रेडीयोधर्मी है मतलब ये रेडिएशन पैदा करती है ।

रेडिएशन पैदा कैसे होता है

विकिरण वो ऊर्जा है जो तरंगो, विद्युत चुंबकीय विकिरण या उच्‍च गति वाले कणो पंचकुलेट विकीरण के रूप में यात्रा करती है।

प्रटीकुलेट रेडीऐशन जब होता है जब एक रेडीयोधर्मी परमाणु खंडित हो जाता है आयनित विकिरण अस्‍थाई परमाणु द्वारा निर्मित होता है अस्थिर प्रमाणु स्थिर प्रमाणु से अलग होते है क्‍योकि अस्थिर प्रमाणुओ में ऊर्जा के द्रव्यमान या दोनों की अधिकता होती है विकिरण उच्च वोल्टेज उपकरण हो जैसे कि एक्स-रे मशीन द्वारा भी उत्पादित किया जा सकता है।

स्थिरता तक पहुंचने के लिए यह परमाणु अतीरिक्‍त ऊर्जा या द्रयवमान को छोड देते है या उर्त्‍सजीत करते है ।

दूसरी ओर रेडिएशन प्रकृति में भी मौजूद होता है यह मिट्टी में हवा में और पानी में और हम में भी पाया जाता है हम हर दिन में जाते हैं जो पानी पीते हैं और जिस हवा में हम सांस लेते हैं उस के माध्यम से इसका सामना करते हैं यह उन सामग्री और वस्तुओं के निर्माण में भी है जिनका हम सामान्य तो उपयोग करते हैं ।

Types of Radiation

इस विषय को जटिलना बनाते हुए अगर थोड़ा सा सांटिफिक तरीके से देखें तो रेडिएशन को दो भागों में बांटा जा सकता है।

1 Ionizing Radiation –  यह रेडिएशन किसी भी प्रदार्थ में आयरन की मात्रा को बढा देता है जो आपकी सेल में मौजूद डीएनए को नुकसान पहुंचा सकती है क्योंकि ये नॉन आयोनाइजेशन के मुकाबले ज्यादा पावर की होती है क्‍योंकी इसमे इलेक्‍ट्रोन बढती या घटती रहती है ।

जिस कारण कि ये हमारे शरीर या आस पास की चीजों पर अपना अलग प्रभाव छोडती है कुछ आयोडाइजेशन रेडीऐशन इतनी ताकतवर होती है कि वह कैंसर कारक भी होते हैं।

इसके तीन प्रकार होते है अल्फा, बीटा और फोटोन सबसे पहले हम बात करते है

1 Alpha Radiation – ऐल्‍फा रेडिएशन की गती प्रकाश की गती का केवल दस प्रतिशत होती है यह बहुत कमजोरी रेडीऐशन है यह बहुत पतली चीज को भी पार नहीं करता अगर किसी रेडियो ऐक्‍टीव साधन से अल्फा रेज निकल रही है और उसके सामने एक कागज का टुकड़ा रख दिया जाए तो रेडीऐशन उस कागज के टुकड़े को  भी पार नहीं कर पाएगी।

हालाकीं कसी भी तरीके से ये रेज हमारे शरीर के अंदर पहुंच जाए तुझे बहुत ही घातक साबित हो सकती है हमारे लिए क्योंकि इसमें पॉजिटिव चार्ज होता है अब बात करते हैं ।

2 Beta Radiation – बीटा रेडिएशन हमारे शरीर के अंदर प्रवेश कर सकता है 0.2 से 1.3 सेंटीमीटर तक हमारे अंदर प्रवेश कर सकता है अगर यह हमारी त्वचा पर ज्यादा देर के लिए लगातार केंद्रित रह गया मिलेंगे कुछ हिस्से को जला सकता है कोई भी ऐसी वस्तु जो 1.3 सेंटीमीटर से ज्यादा होती है उसे यह पार नहीं कर पाएगा जैसी दीवार । इसकी गति प्रकाश की गति का 90 प्रतिशत होता है तथा इसमें नेगेटीव चार्ज होता है।

Photon Radiation – फोटोन रेडीऐसन दो प्रकार के होते है

Gamma Radiation

X Radiation

Gamma Radiation – गामा रेज की गती प्रकाश की गती के बराबर होती है यह शरीर के आर पार जा सकती है तथा इसे सबसे ज्यादा नुकसान होता है शरीर को इसमें कोई भी चांस नहीं होता

X Radiation – ये गामा रेडीऐशन के मुकाबले दमदार और ताकतवर होते है

Effects of Ionizing Radiation on Our Lives

आयोनाईजेशन रेडीएशन जब हानीकारक है जब यह अधिक मात्रा में शरीर पर पड़े इसके कुछ मुख्य प्रभाव इस प्रकार हैं Radiation ka Matlab Kya Hota Hai

नंबर 1 यह हमारे शरीर के सेल्‍स, टीसूज, अंग यहां तक कि पूरे शरीर पर प्रभाव डाल सकती है जिससे शरीर के कई अंग हमेशा के लिए काम करना बंद कर सकते हैं या लंबे समय तक खराब है सकते हैं।

नम्‍बर 2 – यह हामारे डीएनए को खराब कर सकती है

नंबर 3 मानव शरीर में पानी की मात्रा सबसे अधिक होती है अगर यह रेज हमारे शरीर के वाटर लेवल पर प्रभाव डालती है तो यह हमारी हड्डियों को तोड़ना ।

नंबर 4 यह हमारे शरीर के रक्त पर प्रभाव डाल सकती है और ब्लड काउंट को घटा बढ़ा सकती है ।

नंबर 5 कुछ और भी प्रभव हो सकते है जैसे स्किन का जलना, बालों का झड़ना आदि ।

Non Ionizing Radiation

ये रेडीऐसन में कम पावर की होती है क्योंकि इसमें से जितनी ऊर्जा निकलती है वह आयरन के विकास के लिए पर्याप्‍त नहीं है । जिस कारण ये मुख्‍यत हमारे सेल में मौजुद डीएनए को नुकसान नहीं पहुंचा पाती है

इसीलिए ये कैसर कारक नही है इसमें कई प्रकार की चीजे शामील है जैसे लाइट, रेडार, माइक्रोवेव और रेडीयो वेव ।

Effects of Non Ionizing Radiation on Our lives

इसमें में भी कुछ ऐसे अपवाद होते हैं जो हमें काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं

1 Laser Light –  कोशमेटीक सर्जरी में इसी लेजर लाईट का उपयोग किया जाता है  हमारी त्वचा को जला सकती है

2 Ultra Violet Rays – ये हमारे शरीर को कई प्रकार के नुकसान पहुंचा सकती है सन, ब्रन और डेनीन इसके सबसे अच्‍छे उदहारण है  

यह विकीरण आखो लिए भी हानीकारक होती है युवी रेज से मोतीयाबीन की समस्‍या भी हो सकती है

3 Skin Cancer – नोन आयोनाईजेनशन से जो सबसे खतरनाक समस्‍या होती है वो है स्‍कीन कैंसर मालिक इसका प्रभाव कई कारको पर निर्भर करते है जैसे कितनी ऊर्जा का प्रयोग किया जा रहा है और माध्‍यम क्‍या है और कितनी देर तक इस ऊर्जा का प्रयोग शरीर पर किया जा रहा है पर्यावरण प्रभाव आदि और अंत में बात करते हैं

 रेडिएशन के कुछ सकारात्मक प्रभाव हमारे जीवन पर

दोस्त ऐसा नहीं है कि रेडिएशन के केवल दुष्प्रभाव होते हैं कि ये आज मानव के लिए कई रूपों में वरदान भी साबित हो सकता है वह कहावत है ना कि विश ही विश को काटता है कुछ इसी तरह अगर रेडिएशन के दुष्प्रभाव से कैंसर हो सकता है तो आपको यह जानकर खुशी होगी कि आज विज्ञान इतना आगे बढ़ गया है कि इसी रेडीऐसन के जरीए कैंसर का इलाज भी हो रहा है

रेडीऐशन थेरेपी कैंसर पीड़ित लोगों के लिए वरदान की तरह काम कर रहा है कैंसर में असामान्य रूप से शरीर में सेल्स विकसित होते जिन्‍हे नष्‍ट करने में रेडिएशन थेरेपी काफी काम में लाई जा रही है अगर सही तरीके से उपयोग की जाऐ तो हर चीज वरदान के रूप  में काम कर सकती है ।

यह भी पढे :- 

तो हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह आट्रीकल Radiation ka Matlab Kya Hota Haiपसंद आया होगा और रेडिएशन से संबंधित सारी जानकारी आपको इसमें मिल गई होगी हमारी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि जिस विषय पर हम आट्रीकल बनाऐ उसमें सारी जानकारी दे सके ताकी आपको कही और जाने की जरूरत नही पडे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here