Firmware kya hota hai

40

Computer में बहुत से प्रकार के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर होते हैं जिनकी मदद से कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए गए कार्यों को करने में सक्षम हो पाता है हर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए बनाए जाते हैं हम सभी ने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बहुत से नाम सुने होंगे लेकिन एक और चीज है जिसके उपयोग के बिना कंप्यूटर शुरू भी नहीं किया जा सकता और वह है Firmware kya hota hai

Advertisement

Firmware kya hota hai

Firmware kya hota hai ?

Firmware का नाम तो आप सभी ने सुना ही होगा लेकिन क्या आपको पता है कि कंप्यूटर को शुरू करने में इसकी क्या भूमिका होती है नहीं ना अब तो तो हम बस यही सोचते आ रहे थे कि कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम और सीपीयू की वजह से काम करता है लेकिन यह तो बस आधा अधूरा सच है।

Firmware के बिना कंप्यूटर किसी काम का नहीं है आपको यह जानकर हैरानी होगी कि Firmware का उपयोग केवल कंप्यूटर में ही नहीं बल्कि बहुत से इलेक्ट्रिकल और हार्डवेयर डिवाइसेज में भी इसका उपयोग किया जाता है जैसे स्मार्ट फोन, स्मार्ट टीवी, वाशिंग मशीन, स्मार्ट वॉच इत्यादि।

इसका काम भले ही छोटा सा होता है लेकिन यह हर एक मशीन डिवाइस इसके लिए बहुत इंपॉर्टेंट है इसलिए आज के इस आट्रीकल में आपको Firmware क्या है और यह कहां स्टोर होकर रहता है इसके बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी इसलिए आट्रीकल को पूरा जरूर पढीए ।

What Is Firmware ?

Firmware को समझने के लिए आपको हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को समझना जरूरी है हार्डवेयर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो कंप्यूटर की वह भाग होते हैं जिन्हें हम छू सकते हैं और देख सकते हैं यह कंप्यूटर की फिजिकल पार्ट्स होते हैं जिसकी मदद से कंप्यूटर की बॉडी तैयार की जाती है हार्डवेयर के उदहारण है मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस, सीपीयू इत्यादि ।

सॉफ्टवेयर इंस्ट्रक्शंस और प्रोग्राम का सेट होता है जो एक विशेष कार्य को करने के लिए कंप्यूटर को निर्देश देता है सॉफ्टवेयर यूजर को कंप्यूटर पर काम करने की योग्यता प्रदान करता है ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर का मुख्य उदाहरण है हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों एक साथ मिलकर के कंप्यूटर के काम को पूरा करते हैं और यूजर को आउटपुट देते हैं।

अब हम आपको बताते हैं कि Firmware kya hota hai Firmware एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है जो हार्डवेयर के एक हिस्से में जुड़ा होता है Firmware में किसी भी हार्डवेयर के बेसिक फंक्शन परफॉर्म करने के इंस्ट्रक्शंस प्रोग्राम होते हैं इसीलिए हम Firmware को हार्डवेयर के लिए सॉफ्टवेयर भी कह सकते हैं।

Firmware एक ऐसा प्रोग्राम है जो हार्डवेयर के साथ जुड़कर आता है यानी कि फॉर्म वेयर को किसी भी हार्डवेयर के मैन्युफैक्चरिंग के समय ही उस में स्थापित किया जाता है जिससे कि कीबोर्ड, हार्ड ड्राइव, ग्राफीक कार्ड, प्रिंटर या इसके अलावा कि आपके किसी भी होम अप्लायंसेज जैसी टीवी, माइक्रोवेव, ओवन, वॉशिंग मशीन इत्यादि Firmware जुड़ा होता है।

Firmware सॉफ्टवेयर का छोटा सा टुकड़ा है जो हार्डवेयर का काम करता है ये सभी हार्डवेयर डिवाइसेज को सिस्टम के अन्य डिवाइसेज के साथ कम्युनिकेट करने और बेसिक इनपुट आउटपुट टास्क को परफॉर्म करने के लिए इंस्ट्रक्शन देता है।

Firmware के बिना हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज काम नहीं कर सकते क्योंकि हर छोटे-बड़े इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में एक सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया गया है जिसकी मदद से वह यूजर द्वारा दिए गए इनपुट्स को समझता है उसके अनुसार काम करता है जैसे एक साधारण सा उदाहरण है वॉशिंग मशीन।

जिसमें कुछ बटन होते हैं जिसका इस्तेमाल करके मशीन को कंट्रोल किया जाता है और हम अपनी जरूरत के अनुसार उस से काम करवाते हैं लेकिन कि आपने सोचा है कि जैसे ही हम कोई बटन दबाते हैं तो मशीन कैसे समझ जाती है कि कितनी स्पीड से या फिर किस मोड में काम करना है।

वह इसीलिए समझ जाती है क्योंकि उसके अंदर एक मेमोरी रहती है जिसमें Firmware को इंस्टॉल किया गया रहता है और उसी सॉफ्टवेयर की वजह से मशीन हमारे इनपुट को समझ जाती है इसी तरह पर कंप्यूटर का बायो देखा होगा वह भी Firmware है।

जो कंप्यूटर हार्डवेयर के रोम में इंस्टॉल रहता है कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम को लोड करने से पहले Firmware सभी हार्डवेयर डिवाइस को चेक करता है कि वह सही सिचुएशन में है या नहीं और वह ठीक से काम भी कर रहे हैं या नहीं और उनमें कोई डिफेक्ट है या नहीं उसके बाद ही ऑपरेटिंग सिस्टम को रैम में लोड करके कंप्यूटर को कार्य करने की सिचुएशन में लाता है इसे समझने के बाद हम जानेंगे कि Firmware कंप्यूटर में कहां पर स्टोर रहता है।

अब तक आपने यह जान लिया है कि फॉर्म वियर सॉफ्टवेयर के रूप में सीधे हार्डवेयर डिवाइस पर इंस्ट्रक्शन देने के लिए एक प्रोग्राम के रूप में लिखे जाते हैं लेकिन सवाल यह आता है कि Firmware वास्तव में डिवाइस पर कहां स्‍टोर किया जाता है।

Firmware आमतौर पर विशेष प्रकार की मेमोरी में स्टोर होता है जिसे फ्लैश रोम कहा जाता है रोम जिसे रीड ओनली मेमोरी कहा जाता है इसमें मैन्युफैक्चर कंपनी के द्वारा केवल एक बार ही प्रोग्राम लिखा जाता है बाद में जरूरत पड़ने पर इसे दोबारा से री राइट किया जा सकता है।

कंप्यूटर डिवाइस को हमारे इनपुट को समझने के लिए रोम की जरूरत होती है क्योंकि इसमें डाटा स्थाई रूप से स्टोर होकर रहता है इसमें डाटा तब भी स्‍टोर होकर रहता है जब डिवाइस को पावर नहीं मिलता या जब डिवाइस बंद हो जाती है अगर रोम नहीं होता तो फॉर्म वेयर स्टोर नहीं किया जा सकता था और डिवाइस भी अपना काम नहीं कर पाता।

अन्‍य सॉफ्टवेयर की तरफ Firmware का भी अपडेटेड वर्जन तैयार किया जाता है ताकि पहले से और भी ज्यादा बेहरत प्रोमेंस दे सकते ।

How to Update Firmware ?

अभी के समय में हम किसी भी सॉफ्टवेयर को अपडेट कर सकते हैं और Firmware भी एक सॉफ्टवेयर है इसलिए इसे भी अपडेट किया जा सकता है लेकिन 2013 से पहले ऐसा संभव नहीं था।

इससे पहले Firmware का प्रोग्राम केवल एक ही बार हार्डवेयर के साथ लोड होकर आता था लेकिन किसी बग यानी Error के कारण जब हैकर्स ने Firmware को हैक किया था तभी से Firmware का अपडेट आना शुरू हो गया है।

Firmware पहले से ही किसी प्रोडक्ट से जुड़ा हुआ आता है जब यह खराब हो जाता है या फिर उस प्रोडक्ट को बनाने वाली कंपनी को ऐसा लगता है कि यह डिवाइस ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है या इसमें कोई प्रॉब्लम है तो ऐसे में कंपनी Firmware को अपडेट करती है।

Firmware kya hota hai

और कई इलेक्‍ट्रोनकि कंपनीज प्रोडक्ट की टेक्नोलॉजी के आधार पर हार्डवेयर के साथ कंपैटिबल फॉर्म वेयर अपडेट करवाते रहते हैं ताकि यह अपडेटेड डिवाइस नई और एडवांस ऑपरेशंस निर्देशों के साथ अपग्रेड हो जाए Firmware अपडेट हार्डवेयर की परफॉर्मेंस में सुधार करने का नए फीचर्स को जोड़ने के लिए जारी किए जाते हैं।

Firmware को अपडेट करने से यह आपकी डिवाइस की कार्य क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है अपडेट हो जाने के बाद वह डिवाइस नए डिवाइस के समान काम करता है साथ ही उसकी परफॉर्मेंस को और भी बेहतर बनाता है ।

Firmware को अपडेट करने के लिए आप सीधी प्रोडक्ट के मैन्युफैक्चरर्स की वेबसाइट से अपडेटेड वर्जन को डाउनलोड कर सकते हैं या उसकी सीडी और डीवीडी का उपयोग करके भी आप इसे अपडेट कर सकते हैं डिवाइस के Firmware को अपडेट करना कोई मुश्किल काम नहीं है बस जब भी आपका सिस्टम अपडेट होने के लिए तैयार रहेगा तब वह आपको सूचित करेगा।

Firmware अपडेट करने के लिए उसके बाद आप कंपनी की वेबसाइट से फॉर्म पर अपडेट करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करके इंस्टॉल कर के रन कर सकते हैं फिर सिस्टम को शटडाउन करके उसे भी स्टार्ट करना होता है।

तो इस तरीके से आपाके सिस्‍टम का Firmware अपडेट हो जाएगा Firmware  सॉफ्टवेयर अपडेट करने से पहले आपको यह ध्यान रखना है कि जब आप फॉ Firmware अपडेट कर रहे हो तो आपकी डिवाइस बंद नहीं होनी चाहिए इससे आपकी डिवाइस खराब होने का खतरा होता है ।

यहां पर ध्यान रखने वाली एक और बात यह है कि केवल वही अपडेटेड सॉफ्टवेयर को भरोसेमंद मान सकते हैं जो सिधे मैन्‍यूफेचर या सॉफ्टवेयर कंपनी के द्वारा भेजे जाते हैं किसी भी सॉफ्टवेयर को अपडेट करने के लिए कभी भी थर्ड पार्टी के सोर्स पर भरोसा नहीं करना चाहिए।  

क्योंकि हो सकता है कि इससे आपके सिस्टम में वायरस अटैक हो जाए उतना ही महत्वपूर्ण है सिस्टम पर गलत Firmware अपडेट करने से बचना एक डिवाइस के Firmware को दूसरी डिवाइस पर अपडेट करने से पहले वो पहले की तरह काम नहीं कर सकता और हो सकता है कि वह अपडेट आपके Firmware को करप्‍ट कर दें जो डिवाइस के काम करने को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा सकता है।

Firmware अपडेट करने से पहले यह देखें कि आपके हार्डवेयर का मॉडल नंबर उस फ्रॉम व्हेयर सॉफ्टवेयर से मैच कर रहा है या नहीं उसके बाद ही आप उस सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करें।

यह भी पढे :-

तो उम्‍मीद है की आपको इस आट्रीकलFirmware kya hota hai से Firmware क्‍या है, यह कहां पर स्टोर होकर रहता है और इसे समय-समय पर अपडेट करते रहना क्यों जरूरी है यह सारी चीजें समझ में आ गई होगी इस आट्रीकल को पढने के बाद अगर कभी भी आपसे कोई सवाल पूछे कि Firmware क्या होता है तो आप आसानी इसका जवाब दे पाएंगे इसलिए आट्रीकल से जुडी कोई परेशानी हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं ताकि हम आपकी परेशानी को जल्द से जल्द दूर कर सकें अगर आपको हमारी आट्रीकल पसंद आई है तो ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here