What Is Quantum Physics In Hindi | क्वांटम फिजिक्स क्या है |

20

हमारे युनिवर्स से जुड़ी कुछ बातें समझ ना हमारे लिए अब आसान है जैसे चांद तारों का निकलना, सूरज का अस्त होना, आकाशगंगा का दिखना और ग्रह का चमकना |

What Is Quantum Physics In Hindi

लेकिन इसके अलावा भी हमारी यूनिवर्स में ऐसा बहुत कुछ है उसकी खोज भले ही कर ली गई हो लेकिन उसे समझना समझ पाना अभी तक आसान नहीं हुआ है |

ऐसा ही एक फील्ड ऑफ कंफ्यूजन है क्वांटम फिजिक्स जिसका इस्तेमाल हमारी डेली लाइफ में होता है और ब्रह्मांड में भी लगातार इसका उपयोग होता रहता है |

लेकिन इसे एक्सप्लेन कर पाना अभी तक काफी मुश्किल ही समझा जाता है लेकिन अगर आप Physics में इंटरेस्ट रखते हैं और यूनिवर्स के इस मुश्किल लगने वाली टोपीक के बारे में जानना चाहते हैं |

तो आज के इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढे क्योंकि आज हम आपके लिए लेकर आये है Quantum Physics से जुड़ी पूरी और आसान जानकारी |

जिसे पढने के बाद आपके लिए Quantum Physics अनसोल्ड गुथ्‍थी नहीं रह जाएगी |

What Is Quantum Physics

Quantum Physics Physics का वो पाठ है जिसमें बहुत स्मॉल पार्टिकल्स जैसे मोलिकुल्‍स, ऐटम, इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन, न्यूट्रॉन जैसे सबअटॉमिक पार्टिकल्स स्ट्राइक किया जाता है |

Quantum Physics बीसवीं शताब्दी का सबसे इंपॉर्टेंट और इंटरेस्टिंग सिद्धांत था इसे क्वांटम मैकेनिक्स और क्‍वांटम फील्‍ड थौरी भी कहा जाता है |

Quantum Physics की खोज

14 सितंबर 1900 को मैक्स प्लांन में Quantum Physics की नींव डाली थी, उन्होंने ब्लैक बॉडी रेडिएशन पर रिसर्च करके यह परिकल्पना दी कि |

प्रकाश और अन्य विद्युत चुंबकीय विकिरण ऊर्जा का सतत प्रवाह ना होकर ऊर्जा के छोटे छोटे पैकेट के रूप में चलता है Quantum Physics को साबित करने के लिए प्लांन को नोबेल प्राइज से भी सम्मानित किया गया था |

इस हाईपोथिसिस ने Physics World में तहलका मचा दिया और इसी हाइपोथिसिस का इस्तेमाल करके ही आंइटिन ने प्रकाश विद्युत प्रभाव एक्‍सप्‍लेन किया था |

Quantum Kya Hai

मैक्‍स प्लान द्वारा बनाए गये ऊर्जा के छोटे – छोटे पैकेट् को Quanta कहते है हर Quanta कि ऊर्जा निशचित होती है |

और केवल प्रकाश कि आवृत्ति पर निर्भर करती है इसका फॉर्मुला था

–E = hv

H = प्‍लांक नियतांक है

V = आवर्ती है

Quantum Physics हमारी डेली लाइफ में किस तरह यूज होती है हमारे चारों ओर जो भी कुछ घटित होता है उसमें Quantum Physics का हाथ होता है |

What Is Quantum Physics

जिस टोस्‍टर पर आप ब्रेड सेकते हैं वह क्वांटम फिजिक्स की बदौलत ही बन पाया है पूरा कंप्यूटर वर्ल्ड Quantum Physics पर ही बेस्ट है |

यानी अगर Quantum Physics खोज ना होती और साइंटिस्ट ने इसे समझा ना होता तो आज हमारे पास कंप्यूटर की नहीं होते, मोबाइल फोन भी क्वांटम फिजिक्स की ही देन है ट्रजिस्‍टर, माइक्रोस्कोप और लेजर भी Quantum Physics की बदौलत हमारे पास है |

डिजिटल कैमरा और लाइट एमिटिंग डायोड्स (LED) Quantum Physics से हि रिलेटेड है |

टेलीकम्यूनिकेशन को आसान बनाने में भी Quantum Physics का ही हाथ है आज की जरूरत बन चुके GPS ( ग्‍लोबल पोजिशनिंग सिस्टम ) को भी क्वांटम फिजिक्स ने इजहार किया है |

मैग्नेटिक रिजोनेंस इमेजिंग MRI भी Quantum Physics के बदौलत ही पॉसिबल हो पाई है, न्यूक्लियर पावर प्लांट भी क्वांटम फिजिक्स की ही देन है |

इतनी सारी इंपोटेंट इक्वेशंस के पीछे Quantum Physics है यह जानने के बाद आप समझ गए होंगे कि क्वांटम फिजिक्स हमारी लाइफ में बहुत इंपॉर्टेंट रोल प्ले कर दी है |

Quantum Physics से जुड़े इंपॉर्टेंट कॉनसेप्‍टस

1 Dual Nature – युनिवर्स में सब कुछ पार्टीगल और वेव रूप में होता है यानी ब्रह्मांड की हर चीज एक ही समय में कण और तरंग के रूप में रहती है |

इसका अर्थ यह है कि Quantum Physics के अनुसार यूनिवर्स की हर वस्तु में कुछ गुण पार्टिकल के होते हैं और कुछ गुण वेव के |

इस तरह हर वस्तु एक ही समय में कण और तरंग के रूप में दिखाई देती है यानी क्वांटम पार्टिकल्स इलेक्ट्रॉन एक ही समय में कण भी है और तरंग भी है |

2 Uncertainty and Probability – अनसर्टेंटी एंड प्रोबेबिलिटी क्वांटम फिजिक्स का बहुत इंपॉर्टेंट पार्ट है क्वांटम वर्ल्ड में बहुत छोटी पार्टिकल्स पाए जाते हैं |

यानी एटम्‍स, इलेक्ट्रॉन और फोटोन जैसे पार्टिकल और इस वर्ल्ड में किसी भी घटना के होने की संभावना यानी प्रोबेबिलिटी 100% नहीं होती |

यानी कभी भी कोई भी घटना हो सकती है इसके अलावा क्‍वांटम पार्टिकल्स की सही लोकेशन जानना भी पॉसिबल नहीं होता या नहीं कब कौन सा पार्टिकल किसे स्थिती में होगा यह शोरेटी  के साथ नहीं जाना जा सकता |

यानी पार्ट्रिकल्‍स की सिचुएशन और लोकेशन अनसर्टेन बनी रहती है |

3 Quantum  Entanglement – Quantum  Entanglement पार्टिकल ऐसे पार्टिकल्स होते है जिनकी प्रॉपर्टीज आपस में उल्‍झी हुई रहती है ऐसे में जब पार्टिकल्स पर कोई भी क्रिया की जाती है तो दूसरे पार्टीकल भी उस क्रिया से इफेक्‍ट होते है |

What Is Quantum Physics

जो पार्टिकल्स के बीच डिस्टेंस बडा देने के बाद भी यह क्रिया बनी रहती है इसका प्रभाव इतना ज्यादा होता है कि अगर दो इंटेक्ट पार्टिकल्स दो अलग प्‍लेनेट पर भी हो तो भी एक पार्टिकल प्रक्रिया करने पर दूसरा पार्टिकल प्रभावित जरूर होगा |

इतनी जटिल और अनदेखी सी दुनिया है क्वांटम फिजिक्स की जिसे Accept करना मुश्किल लगता है और ग्रेट साइंटिस्ट आइंस्टीन के लिए भी इसे एक्सेप्ट करना आसान नहीं रहा था |

लेकिन साइंटिस्ट के अनुसार यह दुनिया असल में एडजेस्‍ट करती है और इससे जुड़े जितने भी एक्सपेरिमेंट किए जाते हैं उनका रिस्पांस भी मिलता है |

और हमारे डेली लाइफ में इस क्वांटम वर्ल्ड की कितनी इंपोटेंन्‍स है यह तो आप जान ही गए हैं क्योंकि जिस फोन या पीसी में आप यह आर्टिकल पढ पा रहे हैं वह भी तो इस Quantum Physics की ही देन है |

आशा है कि दोस्तों आपको दिया गया आर्टिकल What Is Quantum Physics के ऊपर संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है कि दिए गए विषय के ऊपर पूरी जानकारी मिले जिससे कि आपको और कहीं जाने की जरूरत ना पड़े |

अगर आपको यह आर्टिकल What Is Quantum Physics अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए ताकि यह महत्वपूर्ण जानकारी उनको भी मिल सके अगर आपको इस आर्टिकल संबंधित कोई सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here