How to Join ISRO

238

जब भी धरती पर किसी भी तरह की आपदाए आती है जैसे बाढ़, सुनामी, भूकंप, चक्रवात, तेज बारिश आदि तो अभी के समय में इसकी जानकारी वैज्ञानिको को पहले से ही मिल जाती है जिससे लाखो लोगों की जान बचा नामुमकिन हो जाता है How to Join Isro

How to Join ISRO

लेकिन पहले ऐसे नहीं था प्राकृतिक आपदाएं आती थी तो लाखों लोगों की जाने चली जाती थी और सरकार को भारी नुकसान चुकाना पड़ता था, हमारे देश के वैज्ञानिको के कारण अब मौसम संबंधित पूर्वानुमान के माध्यम से प्राकृतिक आपदाओ के बारे में जानकारी हम लोगों तक पहुंच पा रही है।

Advertisement

लेकिन क्या आप जानते हैं कि वैज्ञानिकों तक इसकी जानकारी कैसे पहुंचती है हर देश का एक रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन होता है जहां पर कई सारे वैज्ञानिक काम करते हैं और अंतरिक्ष में मौजूद सेटेलाइट की मदद से धरती पर हो रही गतिविधियों की जानकारी पता करते हैं भारत में स्थित है रिसर्च ऑर्गनाइजेशन का नाम है ISRO ( इसरो ) ।

ISRO में हजारों कर्मचारी मिलकर देश के लिए काम करते हैं आज के समय में विज्ञान से जुड़ी या फिर अंतरिक्ष से जुड़ी कोई भी बात होती है तो इसरो का नाम T.V. और अखबारो पर आने लगता है ।

अगर आप भी इसरो में काम करने का सपना देखते है तो आज के इस आर्टिकल में  हम आपको इसरो में जॉब के लिए आवेदन कैसे करना है और जॉब के लिए क्या क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए इन सब की जानकारी देने वाले हैं ऐसे इस आर्टिकल को अतं तक जरूर पढीए ।

What is ISRO

इसरो का पूरा नाम है Indian Space Research Organization ( इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन ) जिसे हिंदी में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन कहा जाता है इसे भारत सरकार के स्पेस डिपार्टमेंट द्वारा मैनेज किया जाता है और स्पेस सेन्टर में होने वाले प्रत्येक कार्य की रिर्पोट सीधा ही भारत के प्रधानमंत्री को पहुंचाई जाती है। 

इसरो भारत का राष्ट्रीय अंतरिक्ष संस्थान है जिसका मुख्यालय बेंगलुरु में है इसकी स्थापना 15 अगस्त 1969 में कि गई थी और इसकी स्थापना मशहूर वैज्ञानिक विक्रम अंबालाल साराभाई के प्रयासो के द्वारा हुई थी ।

इसीलिए डॉक्टर विक्रम ए. साराभाई को भारत में अंतरिक्ष कार्यक्रमों का संस्थापक जनक माना जाता है। इस संस्थान का मुख्य कार्य भारत के लिए अंतरिक्ष संबंधित तकनीक उपलब्ध करवाना है ।

इसरो दुनिया की टॉप 5 सबसे बड़ी अंतरिक्ष एजेंसियों में से एक है और अब तक इसरो ने अंतरिक्ष में 370 सेटेलाइट भेज चुका है जिसमें से 101 भारत के लिए और 269 विदेशों के लिए सेटेलाइट भेजे जा चुके है ।

हाल ही में Chandrayaan-2 की सफलता के बाद अब भारत द्वारा अंतरिक्ष में 371 सेटेलाइट जा चुके हैं।

भारत का पहला सेटेलाइट 19 अप्रैल 1975 को लांच किया गया था जिसका नाम गणितज्ञ आर्यभट्ट के नाम पर रखा गया था इसके बाद Rohini एक भारतीय निर्मित लॉन्च व्हीकल SLV-3 द्वारा ऑर्बिट में रखा जाने पहला सेटेलाइट 18 जुलाई 1980 को लांच किया गया ।

इसी तरह से इसरो ने ऐसी कई तरह की उपलब्धियां हासिल की है जिस वजह से इसे दुनिया की सबसे बेहतरीन स्पेस ऐजेसियो में से एक माना जाता है ।

इसरो ने दूरसंचार, टेलीविजन प्रसारण, मौसम विज्ञान और आपदा चेतावनी के लिए भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह यानी Indian National Satellite इनसेट प्रणाली और धरती के संन साधन निगरानी और प्रबंधन के लिए भारतीय रिमोट सेंसिंग यानी इंडीयन रिमोट सेंसिंग IRS Satellite सहीत कई अंतरिक्ष प्रणालियों का शुभारंभ किया है।

इसरो साल 2021 में अंतरिक्ष यात्रीयों को ऑर्बिट में लाने की योजना बना रहा है इसरो का सबसे महत्वपूर्ण मिशन यह है कि वे अंतरिक्ष विज्ञान की सहायता से कुछ ऐसे ग्रहो की खोज करना चाहते हैं जो की हमारी पृथ्वी के विकास और जीवन को एक नया रूप और प्रदान कर सकें।

इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं दोस्तों कि भारत अंतरिक्ष कार्यक्रमों में कितनी तेजी से आगे बढ़ रहा है ऐसे में इसरो के लिए काम करना हमारे लिए कितने गर्व की बात हो सकती है । तो चलीए अब जानते हैं इसरो में नौकरी के लिए आवेदन कैसे करें।

How to Apply Job in ISRO

इसरो दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे सफल अंतरिक्ष एजेंसी में से एक है साथ ही यह विज्ञान विषय से जुड़े युवाओं के लिए नौकरी के नए – नए अवसर भी प्रदान करता है इसरो समय – समय पर आवश्यकता के अनुसार कर्मचारियों की भर्ती करता है।

यदि आप भी अंतरिक्ष के रहस्य के साथ भविष्य के निर्माण में रुचि रखते हैं या भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रमो का हिस्सा बनना चाहते है तो आपको इसरो में अपना सपना पूरा करने का अवसर जरूर मिलेगा है How to Join Isro ।

इसरो युवाओं के लिए चुनौतीपूर्ण अवसर उपलब्ध करवाता है यहा युवाओ को इन्नोवेटिव टेक्नोलॉजी का विकास करने तथा अंतरिक्ष की खोज करने के लिए आवशयक उन्नत तकनीकी की स्थापना करने में शामिल होने का अवसर प्रदान किया जाता है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इसरो में 10वीं, 12वीं, Graduate, Post Graduate, Engineers, Scientist आदी सभी कैंडिडेट नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इसरो कैंडिडेट को Space Scientist और Engineers के लिए हि नियुक्त करती है यंग ग्रेजुएट को तो आमतौर पर Electronics, Mechanical, Electrical, Civil, Computer Science आदि जैसे क्षेत्रो में वैज्ञानिक इंजीनियर के रूप में भर्ती किया जाता है ।

अगर आप इसरो में नौकरी करना चाहते हैं तो आपको इसकी ऑफिशल वेबसाईट www.isro.gov.in पर जाकर अप्लाई करना होगा इसके लिए आपको ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के इसके होम पेज पर कैरियर स्टेप के ऊपर क्लिक करना है।

और अपने क्वालिफिकेशन के आधार पर अपने मनचाहे पद पर आवेदन करना है और सारी डिटेल भरने के बाद सबमिट बटन पर Click करना है इसके बाद आपके द्वारा भेजे गए डिटेल   के हिसाब से कैंडिडेट को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा और उन्होंने Written एग्जाम के लिए बुलाया जाएगा।

How to Join ISRO
How to Join ISRO

Written Exam में सफल हुए कैंडिडेट को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है और इस तरह से इसरो अपने यहां काम करने के लिए कैंडिडेट को नियुक्त करता है। अब जानते हैं कि इसरो में जॉब के लिए क्या – क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए ।

ISRO Job Qualification

इसरो में साइंटिस्ट और इंजीनियर पद में नौकरी करने के लिए B.E, B.Tech, B.Sc, ITI, Diploma, M.Sc, M.Phil, PhD आदी में से किसी भी एक में Degree होनी चाहीए ।

जिन कैंडिडेट ने सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रोनीक्स, कंप्यूटर साइंस जैसे फिल्ड में कोर्स किया है वे ही आवेदन कर सकते है कैंडिडेट के पास कम से कम 65% करीयर मार्क्स होने चाहिए ।

साथ ही इसरो में भर्ती के लिए उम्र सीमा की जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों की साल होती है 35 और SC / ST कैंडिडेट को 5 साल की छुट दि जाती है ।

तो अगर आप 12वीं करने के बाद इसरो से जुड़ने के बारे में सोच रहे हैं तो उसके लिए सबसे पहले आपको इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करनी होगी इसके लिए आपके 12वीं की कक्षा में Maths और Physics जैसे सब्जेक्ट होने चाहिए।

इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद अंतरिक्ष एजेंसी में शामिल होने के लिए आपको ISRO Centralized Recruitment Board (ICRB) में परीक्षा देकर सफलता हासिल करनी होगी ।

इसके अलावा आप इसरो में सीधी भर्ती के लिए के लिए 12वी के बाद Indian Institute of Space Science Technology (IIST) तिरुवंतपुरम में प्रवेश ले सकते है ।

इस इंस्टीट्यूट में दाखिला लेने के लिए कैंडिडेट को IIT और JEE का एग्जाम देना जरूरी होता है और इसमें अच्छी रैंक के आधार पर ही आपको IIST में दाखिला मिल सकता है ।

IIST में दाखिला कब और कैसे लेना है आपको इसकी ऑफिशल वेबसाइट www.iist.ac.in पर मिल जाएगी IIST में आपको किसी भी डिग्री के कोर्स में कम से कम 75% अंक रखना जरूरी है। उसके बाद ही इसरो के पास जो भी वैकेंसी होती है उसमें आपको भर्ती दे दी जाती है।

अगर आपने 12वीं के बाद IIST के अलावा किसी अन्य इंस्टिट्यूट से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की है जैसे कि IIT और NIT तब भी आप इसरो में जॉब पाने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ऐसे कैंडिडेट के लिए इसरो ICRB Exam आयोजीत करता है जिसमें सफलता हासील करने के बाद इसरो इंटरव्यू लेकर कैंडिडेट का चुनाव करता है इस Exam का Notification इसरो की ऑफिशल वेबसाइट www.isro.gov.in पर आता है ।

इसरो में नौकरी पाने के बाद सैलरी और अन्य सुविधाएं क्या मिलती है।

ISRO Salary

इसरो में अलग-अलग पदों के हिसाब से सैलेरी दि जाती है और इसकी शुरुआती सैलरी होती है 15600 से लेकर ₹39100 रूपये तक प्रती माह मिलती है ।

अगर इसरो में साइंटिस्ट और इंजीनियर की सैलरी की बात की जाए तो उन्हे प्रति महीने 50 हजार यह उससे भी ज्यादा सैलरी मिलती है।

सैलरी के अतिरिक्त कर्मचारियों को आवास और ट्रांसपोर्ट की सुविधा भी दी जाती है साथी मेडिकल की सुविधा कर्मचारी और उसके परिवार वालों को भी दी जाती है।

आशा करते हैं कि आप इस आर्टिल से यह पता चल गया होगा कि इसरो में जॉब के लिए आवेदन कैसे करना है और इसके लिए क्या – क्या क्वालिफिकेशन मांगी जाती है।

यह भी पढें – 

अगर आपने भी साइंस विषय में अपनी पढ़ाई पूरी की है और अंतरिक्ष विभाग से जुड़कर देश के लिए कुछ करना चाहते हैं तो आप इसरो में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं ।

अगर आपको यह आर्टिकल How to Join Isro अच्छा लगा तो आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर किजीए, ताकि बाकी लोगों को भी इसरो में जॉब के लिए अप्लाई करने के बारे में मालूम हो सके इस आर्टिलस से जुडी कोई भी सझाव होतो हमें कमेंट करके जरूर बताईए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here